08 दिसंबर 2009

दलित छात्र के उत्पीडन के खिलाफ वर्धा में छात्रों का आमरण अनशन

दीक्षान्त समारोह का करेंगे बहिष्कार

08 दिसम्बर, 09, वर्धा:
महात्मा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, एक दलित छात्र के उत्पीडन और पीएच.डी. में उसका प्रवेश न लेने के खिलाफ छात्रों ने मंगलवार से आमरण अनशन शुरू कर दिया. छात्र बुधवार को आयोजित होनेवाले दीक्षान्त समारोह का भी बहिष्कार करेंगे. आन्दोलन का नेतृत्व कर रहे अम्बेडकर स्टूडेन्ट्स फोरम का कहना है की अनुवाद विद्यापीठ में एम.फिल. के टाॅपर रहे राहुल काम्बले का जानबूझकर पीएच.डी. में दाखिला नहीं लिया जा रहा। राहुल का चयन सामान्य वर्ग में प्रतीक्षा सूची नंबर 1 पर हुआ। एक चयनित छात्रा द्वारा प्रवेश न लेने से एक सीट खाली है, जिस पर नियम के अनुसार राहुल का नामांकन होना चाहिए। लेकिन केवल दलित छात्र होने कारण राहुल का नामांकन सामान्य वर्ग में नहीं किया जा रहा है, जबकि उसका चयन सामान्य वर्ग में हुआ है।
छात्र राहुल काम्बले का आरोप है की विद्यापीठ के डीन प्रो. आत्मप्रकाश श्रीवास्तव पिछले दो महीने से उसका मानसिक और भावनात्मक शोषण कर रहे हैं। विश्वविद्यालय के कुलपति ने भी इस मामले में कभी कोई गंभीरता नहीं दिखाई और राहुल को ही बार-बार प्रो.श्रीवास्तव से माफी मांगने पर मजबूर किया और अंत में उसको एडमिशन देने से मना कर दिया। प्रो.श्रीवास्तव ने कई बार राहुल पर जातिगत पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर कमेंट किया। यही नहीं उसके प्रोफेसर पिता पर भी आपŸिाजनक टिप्पणियां की।
अंत में बार-बार ज्ञापन और अनुरोध-पत्र देने के बावजूद प्रशासन द्वारा इस मामले पर कोई रुचि न दिखाने से सबक लेते हुए विश्वविद्यालय के दलित छात्र-छात्राओं ने दीक्षान्त समारोह का पूरी तरह बहिष्कार करने का निर्णय लिया हंै। इस मामले में छात्रों के हस्ताक्षरों की दो प्रतियां कुलपति को सौपी जा चुकी हैं। उसमें विश्वविद्यालय के गैर-दलित छात्रों ने भी अपना समर्थन जताते हुए हस्ताक्षर किए हैं। फोरम का स्पष्ट मानना है कि प्रो. श्रीवास्तव ने राहुल का जातिगत उत्पीड़न किया है। अतः उनके खिलाफ उचित कारवाई होनी चाहिए और राहुल काम्बले का तत्काल पीएच.डी. में नामांकन होना चाहिए। फोरम ने इस पूरे मामले में विश्वविद्यालय के कुलपति विभूति नारायण राय के उपेक्षित रवैये की भी निंदा की है। फोरम की तरफ से दलित छात्र इस मामले को लेकर मंगलवार को दोहपर बाद से अनिश्चित कालीन आमरण अनशन पर बैठ गए हैं।

कृते केन्द्रीय समिति,
अम्बेडकर स्टूडेन्ट्स फोरम,
म.गां.अं.हिं.वि.वि.,वर्धा.
9423643523, ई मेल: asf.mgahv@gmail.com


छात्रों द्वारा कुलपति विभूति नारायण राय को दिया गया ज्ञापन

प्रति,

कुलपति,
म.गां.अं.हिं.वि.वि.,वर्धा.
विनम्र आग्रह है कि राहुल काम्बले के मामले को लेकर फोरम माननीय महोदय से कई बार अनुरोध कर चुका है लेकिन प्रशासन की तरफ से किसी भी तरह की सकारात्मक प्रतिक्रीया न आने के कारण हम आज दि.08.12.2009, मंगलवार को विश्वविद्यालय के केन्द्रीय पुस्तकालय के निकट आमरण अनशन पर बैठने जा रहे है। हमारी दो मुख्य मांगे है -
1. राहुल काम्बले का तत्काल पीएच.डी. में नामांकन दिया जाए।
2. राहुल काम्बले को मानसिक एवं भावनात्मक उत्पीड़न देनेवाले प्रो.आत्मप्रकाश श्रीवास्तव के खिलाफ कारवाई की जाए।
इन दोनों मांगों के साथ हम कोई समझौता नहीं करने वाले है और न ही प्रशासन के दलित विरोधी रवैए के आगे झुकने वाले है। न्याय पाने तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा। इसके साथ ही हम दि. 09 दिसम्बर 2009 को आयोजित होनेवाले दीक्षान्त समारोह के बहिष्कार की भी घोषणा करते है।

निवेदक-
(विलास वाणी)
मोब: 9923383679
कृते, केन्द्रीय समिति

2 टिप्‍पणियां:

Suman ने कहा…

nice

MOOK NAYAK ने कहा…

jai bheem...
castiest VC ke saamne jhukna nhi hai...VIBHUTI NARAYAN RAI ka ASLI CHEHRA ab saamne aa raha hai...

अपना समय